पेज

मेरी अनुमति के बिना मेरे ब्लोग से कोई भी पोस्ट कहीं ना लगाई जाये और ना ही मेरे नाम और चित्र का प्रयोग किया जाये

my free copyright

MyFreeCopyright.com Registered & Protected

गुरुवार, 5 अक्तूबर 2017

लागी छूटे न



मेरी सीमितताएँ
सीमित संसाधन
सीमित सोच
उठने नहीं देते तल से मुझे
फिर कैसे एक नया आसमां उगाऊँ

होंगे औरों के लिए तुम
चितचोर भँवरे
माखनचोर नंदकिशोर
लड्डूगोपाल
और न जाने क्या क्या
मगर
इक नशा सा तारी हो गया है
जब से तुम्हारा संग किया
मेरे लिए तो मेरी 'वासना' भी तुम हो
और 'व्यसन' भी तुम ..... मोहन 


लागी छूटे ना ..........

कोई टिप्पणी नहीं: