पेज

मेरी अनुमति के बिना मेरे ब्लोग से कोई भी पोस्ट कहीं ना लगाई जाये और ना ही मेरे नाम और चित्र का प्रयोग किया जाये

my free copyright

MyFreeCopyright.com Registered & Protected

गुरुवार, 17 मार्च 2011

आज बिरज मे होरी रे रसिया

आज बिरज मे होरी रे रसिया-2-
मेरे  बिरज मे ना हुई बरजोरी रे रसिया

मै भी प्रेम रंग घोल के बैठी
श्याम मिलन की आस मे बैठी
मुझ संग हुई ना ठिठोली रे रसिया
आज बिरज मे होरी रे रसिया-2-

श्याम रंग की मै हूँ दीवानी
मीरा सी नाचूँ मस्तानी
मुझ संग होरी ना खेले रे सांवरिया
आज बिरज मे होरी रे रसिया

18 टिप्‍पणियां:

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

अब लग रहा है कि होली का स्पष्ट आगमन हो चुका है।

सतीश सक्सेना ने कहा…

बढ़िया होरी के लिए शुभकामनायें आपको !!

Udan Tashtari ने कहा…

वाह जी, जय हो...आज बिरज की होरी.

Rakesh Kumar ने कहा…

वंदना जी ,यूँही रूठी रहेंगी तो मनाने आना ही पड़ेगा श्याम को. विरह अग्नि बहुत तपाती है,लेकिन क्या विरह का अपना आनन्द नहीं है?
shyam to bas isi aanand ke diwane hain aisa humne suna hai.

निर्मला कपिला ने कहा…

बहुत सुन्दर। होली की हार्दिक शुभकामनायें।

ZEAL ने कहा…

"आज बिरज मे होरी रे रसिया"....वाह!.उम्दा गीत लगाया है ...आनंद आ गया ..होली की बधाई।

Manpreet Kaur ने कहा…

वह बहुत खूब लिखा है ! दिल खुश हो गिया जी ! हवे अ गुड डे
मेरे ब्लॉग पर आये !
Music Bol
Lyrics Mantra
Shayari Dil Se
Latest News About Tech

अरुण चन्द्र रॉय ने कहा…

मन में होली मचा गई यह छोटी सी कविता.. बहुत बढ़िया... होली की अग्रिम शुभकामना...

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

होली के रंग में रंगी सुन्दर रचना .

GirishMukul ने कहा…

होली आ ही गई
पक्के में
गज़ब

श्रीमती अमर भारती ने कहा…

अरे वाह तुमने तो बहुत बढ़िया लय और छंदबद्ध गीत रच दिया!
अब तो लग रहा है कि होली आ ही गई है!
क्योकि परसों तो आप कह रहीं थी कि कैसे होली खेलूँ और आज रंग में सराबोर हो!

मनीष सेठ ने कहा…

bahut sunder geet brij ko rango se sarobaar kar diya aap ne.

राज भाटिय़ा ने कहा…

अब सब को होली का रंग चढने लग गया धीरे धीरे...

तरुण भारतीय ने कहा…

आप को होली कि शुभकामनाएँ .....
जीवन का हर रंग आप पर सुहाना रहे

राजीव थेपड़ा ने कहा…

वाह....अपन भी राम गए भई होली के रंग में....

kshama ने कहा…

Sundar rachana!
Holikee dheron mubarakbaad!

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ ने कहा…

होली के पर्व की अशेष मंगल कामनाएं। ईश्वर से यही कामना है कि यह पर्व आपके मन के अवगुणों को जला कर भस्म कर जाए और आपके जीवन में खुशियों के रंग बिखराए।
आइए इस शुभ अवसर पर वृक्षों को असामयिक मौत से बचाएं तथा अनजाने में होने वाले पाप से लोगों को अवगत कराएं।

दीपक बाबा ने कहा…

भूल जा झूठी दुनियादारी के रंग....
होली की रंगीन मस्ती, दारू, भंग के संग...
ऐसी बरसे की वो 'बाबा' भी रह जाए दंग..

होली की शुभकामनाएं.