पेज

मेरी अनुमति के बिना मेरे ब्लोग से कोई भी पोस्ट कहीं ना लगाई जाये और ना ही मेरे नाम और चित्र का प्रयोग किया जाये

my free copyright

MyFreeCopyright.com Registered & Protected

गुरुवार, 25 सितंबर 2014

वन्दन बारम्बार



प्रथम दिवस प्रथम रूप का दर्शन 
कर बने सम्पूर्ण जगत  खुशहाल 

शक्ति  औ दृढता करो माँ प्रदान 
जो दे जीवन को स्थिरता का आधार 

माँ के अदभुत रूप को करें वन्दन बारम्बार
तेजोमयी के तेज से प्रकाशित हो जाए संसार 

 नवरात्रि सभी के लिए मंगलमय हों 

5 टिप्‍पणियां:

अरुण चन्द्र रॉय ने कहा…

बहुत सुंदर !नवरात्रि मंगलमय हों !!

कालीपद "प्रसाद" ने कहा…

सुन्दर प्रार्थना !
नवरात्री की शुभकामनाएं
शम्भू -निशम्भु बध भाग २

Rajendra kumar ने कहा…

आपकी यह उत्कृष्ट प्रस्तुति कल शुक्रवार (26.09.2014) को "नवरात महिमा" (चर्चा अंक-1748)" पर लिंक की गयी है, कृपया पधारें और अपने विचारों से अवगत करायें, चर्चा मंच पर आपका स्वागत है, धन्यबाद। नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनायें।

Kailash Sharma ने कहा…

बहुत सुन्दर स्तुति...नवरात्रि की हार्दिक मंगलकामनायें!

Unknown ने कहा…

वाह बहुत ही प्रेममय रचना। जय माता की