पेज

मेरी अनुमति के बिना मेरे ब्लोग से कोई भी पोस्ट कहीं ना लगाई जाये और ना ही मेरे नाम और चित्र का प्रयोग किया जाये

my free copyright

MyFreeCopyright.com Registered & Protected

सोमवार, 29 सितंबर 2014

स्कन्ध रूप लिया धार



पञ्च दिवस माँ ने स्कन्ध रूप लिया धार 
तब भक्तों में किया एकाग्रता का संचार 

अच्छे और बुरे का खुद ही करो ध्यान 
बन खुद के सेनापति निर्णय करो तत्काल 

परम सुख और शांति का अनुभव जब हो जाए 
शक्ति की कृपा को तब हर प्राणी मान जाए 

2 टिप्‍पणियां:

कविता रावत ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति
स्कन्ध माता की जय!

कविता रावत ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति
स्कन्ध माता की जय!